मध्यप्रदेश

अक्षय बम ने मतदान से 15 दिन पहले कांग्रेस को झटका दिया, चुनावी मैदान भी छोड़ा

इंदौर
इंदौर के लोकसभा प्रत्याशी अक्षय कांति बम ने मैदान छोड़कर कांग्रेस को बड़ा झटका दिया। भाजपा में शामिल होते हुए कहा कि ‘राष्ट्रहित और सनातन सर्वोपरि।’ उनके कांग्रेस छोड़ने में पार्टी भी कम जिम्मेदार नहीं है, यह बात फिर ऑन रिकॉर्ड आ गई है। बूथ मैनेजमेंट के खर्च पर विवाद और करियर पर सवाल थे ही, वे लोकल कांग्रेसियों की बेरुखी से भी दुखी हो गए थे। कांग्रेस छोड़ने के एक घंटे पहले तक वे जनसंपर्क कर रहे थे और फिर पता चला कि वे भाजपा के हो गए हैं।

भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय ने अक्षय के साथ एक सेल्फी साझा कर उनके भाजपा में आने का दावा किया। इससे पहले अक्षय ने कलेक्टर कार्यालय जाकर अपना नामांकन वापस लिया था।

कांग्रेस ने भाजपा के शंकर लालवानी के विरुध्द अक्षय को मैदान में उतारा था। उनका यह किसी भी तरह का पहला चुनाव था। अक्षय खुद को शिक्षाविद बताते हैं और वह इंदौर में कई कॉलेज का संचालन करते हैं। नामांकन के दौरान उनकी ओर से जमा किए गए हलफनामे के अनुसार वह करोड़ों की संपत्ति के मालिक हैं।

इतनी है कुल संपत्ति

अक्षय के शपथ पत्र के अनुसार उनके पास कुल 56 करोड़ रूपए की संपत्ति है। इसमें 8.50 करोड़ रूपए की चल एवं 46.77 करोड़ रुपए की अचल संपत्ति है। वहीं उनकी कंपनी की चल संपत्ति 1.95 करोड़ रूपए है। इसके अलावा उनकी पत्नी के पास भी 20 करोड़ रुपए से अधिक की संपत्ति है, जिसमें 4.28 करोड़ रूपए की चल एवं 16.09 करोड़ रूपए की अचल संपत्ति है। वहीं उनके परिवार की कुल संपत्ति 78 करोड़ रूपए से अधिक है।

14 लाख रूपए की घड़ी

अक्षय ने अपने हलफनामे में बताया था कि वह रोलेक्स की घड़ी पहनते हैं, जिसकी कीमत 14 लाख रूपए है। उनके नाम दस बैंक खाते हैं, जिसमें एक करोड़ रुपए जमा है। वहीं उनकी पत्नी के तीन खातों में भी लाखों रुपए जमा हैं। उनके नाम पर कोई कार नहीं है।

इसके अलावा उन्होंने 75 लाख रूपए का कर्ज भी दे रखा है। ज्वेलरी के रूप में अक्षय के पास 16 लाख 36 हजार रुपए का 217.58 ग्राम सोना और 26.49 लाख रूपए की तीन किलो चांदी भी है। इसके अलावा 87 लाख रूपए का 10 किलो का रजत रथ भी है।

कांग्रेस प्रत्याशी अक्षय बम सोमवार को भाजपा विधायक रमेश मेंदोला के साथ कलेक्टर कार्यालय पहुंचे और अपना नाम वापस ले लिया। ऐसे में अब इंदौर में भाजपा उम्मीदवार शंकर लालवानी के सामने कोई बड़ी चुनौती नहीं है। इससे पहले हुए विधानसभा चुनाव में अक्षय ने चार नंबर सीट से टिकट मांगा था। लेकिन, कांग्रेस ने तब उन्हें टिकट नहीं दिया था। लोकसभा चुनाव में उन्हें कांग्रेस ने अपना प्रत्याशी बनाया था।

कैलाश विजयवर्गीय पोस्ट किया फोटो
कांग्रेस प्रत्याक्षी अक्षय बम सोमवार सुबह कलेक्टर कार्यालय पहुंचे। उनके साथ भाजपा विधायक रमेश मेंदोला और एमआईसी मेंबर जीतू यादव थे। अक्षय ने नाम वापस लिया और फिर मेंदोला के साथ कार्यालय के बाहर निकल गए। कुछ देर बाद मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने फेसबुक पर अक्षय के साथ फोटो पोस्ट करते हुए लिखा कि अक्षय का भाजपा में स्वागत है। वे अक्षय को लेकर सीधे भाजपा कार्यालय पहुंचे। उधर, बम के अचानक नामांकन वापस लेने से कांग्रेस नेता नाराज हैं, वे उनके घर के बाहर प्रदर्शन करने पहुंच रहे हैं।

विजयवर्गीय बोले- भाजपा में आपका स्वागत है
कांग्रेस प्रत्याशी बम के नामांकन वापस लेने पर मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने एक्स कर लिखा कि इंदौर से कांग्रेस के लोकसभा प्रत्याशी अक्षय कांति बम का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, मुख्यमंत्री डॉक्टर मोहन यादव और प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा के नेतृत्व में भाजपा में स्वागत है।

हत्या के प्रयास का केस था चर्चा में
कांग्रेस प्रत्याशी अक्षय बम के 17 साल पुराने एक केस में पुलिस ने नामांकन वाले दिन हत्या के प्रयास की धारा जोड़ी थी। भाजपा ने इस आधार पर बम का नामांकन खारिज करने की मांग की थी कि अक्षय ने शपथ पत्र में इसका उल्लेख नहीं किया है। लेकिन, जिला निर्वाचन अधिकारी आशीष सिंह ने भाजपा की आपत्ति को खारिज कर दिया था। इस मामले में बम को 10 मई को कोर्ट में हाजिर होना है।
 

कलेक्टर कार्यालय पर भाजपाई और कांग्रेसी हुए आमने-सामने

कांग्रेस उम्मीदवार अक्षय बम के नामांकन वापस लेने से नाराज कांग्रेस नेता कलेक्टर कार्यालय पर प्रदर्शन करने पहुंचे। तब वहां तीन निर्दलीय उम्मीदवारों को लेकर भाजपा विधायक गोलू शुक्ला और जिला भाजपा अध्यक्ष चिंटू वर्मा भी पहुंचे थे। दोनो दलों के नेता आमने-सामने हुए और एक दूसरे पर आरोप लगाने लगे। इस दौरान नारेबाजी और धक्का-मुक्की भी हुई। इसके बाद पुलिस को मैदान संभालना पड़ा और नेतागणों को कार्यालय से बाहर किया। कलेक्टर कार्यालय में हुए विवाद को लेकर कलेक्टर आशीष सिंह ने कहा कि विवाद के फुटेज के आधार पर एक्शन लिया जाएगा।

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष बोले-कांग्रेस की हालत बदतर

अक्षय कांति बम के नामांकन वापस लेने पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा ने कहा कांग्रेस के देश और प्रदेश के अंदर इतने बदतर हालात हैं कि कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष के घर में जो बहुत ज्ञान बांटने का काम करते है। उनका कांग्रेस प्रत्याशी ही अपना नामांकन वापस ले लेता है। कांग्रेस के इस प्रकार के हालात आज देश एवं प्रदेश के अंदर बने हैं और मैंने जो सुना है कि बम ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में आज विश्वास व्यक्त करता हूं। शर्मा बोले कि मध्यप्रदेश की 29 में से 29 लोकसभा सीटें भाजपा जीतेगी और ‘अबकी बार 400 पार’ का नारा पूरा होगा, क्योंकि मोदी के नेतृत्व में देश तैयार है।

अक्षय बम के घर पुलिस तैनात
कांग्रेस छोड़कर भाजपा में आए अक्षय बम के निवास पर पुलिस तैनात हो गई है। पुलिस को आशंका है कि कांग्रेस कार्यकर्ता बम के निवास पर प्रदर्शन कर सकते हैं। इस दौरान तोड़फोड़ न हो, इसलिए पुलिस तैनात की गई है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Latest News

Latest Post
Latest News
Close