छत्तीसगढ़

जीएसटी में छूट का बूस्टर डोज जरूरी, महंगाई से जनता त्रस्त

रायपुर
विगत दो वर्षो से कोविड 19 से त्रस्त जनता को केन्द्र सरकार करों में छूट की वेक्सीन देकर राहत दे । इस आशय का पत्र जैन संवेदना ट्रस्ट ने केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण को भेजकर मांग की है । जैन संवेदना ट्रस्ट के महेन्द्र कोचर व विजय चोपड़ा ने कहा कि विगत दो वर्षों से आम जनता , व्यापारी , उद्योगपति , नौकरीपेशा वर्ग व दिहाड़ी मजदूरों को कोविड के कारण आमदनी में मार पड़ी है । लाखों लोगों के व्यापार बन्द हो गए हैं कई उद्योग धंधे चौपट हो गए लाखों लोग बेरोजगार हो गये हैं ।  लॉकडाउन के कारण भी लोगों की आमदनी घटी है । ऐसा देखा गया है कि लॉकडाऊन के बाद उपभोक्ता वस्तुओं के दामों में 20 से 35 प्रतिशत तक वृद्धि हुई है । जिससे आम जनता की महंगाई के कारण कमर टूट गई है ।

जैन संवेदना ट्रस्ट के महेन्द्र कोचर व विजय चोपड़ा ने वित्त मंत्री को पत्र लिखकर मांग की है कि केन्द्र सरकार द्वारा आरोपित समस्त करों जैसे जी एस टी , उत्पाद शुक्ल , आयकर की दरों में 20 से 30 प्रतिशत की छूट प्रदान करें ताकि जनता को सीधे राहत मिलेगी । सरकार का उद्देश्य केवल कर संग्रह कर देश चलाना नही होता बल्कि आपदा काल में जनता को राहत पहुंचाना मुख्य उद्देश्य होना चाहिये । ट्रस्ट ने पत्र में मांग की है कि कर संग्रह के टारगेट को इस वर्ष भुलाया जाना चाहिए जिससे जनता के जीवनस्तर में सुधार होगा और भारत की अर्थव्यवस्था पटरी पर आयेगी । अपने पत्र में जैन संवेदना ट्रस्ट ने मांग की है कि हर 30 किलोमीटर में लिए जाने वाले बेतहाशा टोल टैक्स को कम किया जाना चाहिए । यह भी महंगाई का कारण है जिसका सीधा असर आम जनता पर पड़ रहा है । इसमें भी 25 से 30 प्रतिशत की छूट देनी चाहिए.जनता के लिए यह एक बूस्टर डोज के समान होगा ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Latest News

Latest Post
Latest News
Close