राज्य

गाजीपुर फूल मंडी में गणतंत्र दिवस से पहले मिले संदिग्ध बैग से IED बरामद, पुलिस और सुरक्षा एजेंसियों में हड़कंप

नई दिल्ली
गणतंत्र दिवस से पहले पूर्वी दिल्ली स्थित गाजीपुर फूल मंडी में शुक्रवार सुबह मिले एक लावारिस बैग के अंदर से इंप्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (आईईडी) एक्सप्लोसिव मिलने की सूचना से हड़कंप मच गया है। हालांकि, इससे कोई नुकसान नहीं हुआ और बम स्क्वॉड ने कंट्रोल ब्लास्ट के जरिए समय रहते इसे डिफ्यूज कर दिया। दिल्ली पुलिस पुलिस राकेश अस्थाना ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा कि प्राप्त सूचना के आधार पर बैग के अंदर से एक आईईडी बरामद किया गया था। गणतंत्र दिवस समारोह के मद्देनजर सुरक्षा और खुफिया एजेंसियों में दहशत फैल गई, जो पहले से ही हाई अलर्ट पर हैं। पुलिस अधिकारियों ने पूरे इलाके की घेराबंदी कर मार्केट को खाली करा लिया है। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल और स्थानीय पुलिस के अलावा राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी), बम डिटेक्शन एंड डिस्पोजल स्क्वॉड, डॉग स्क्वॉड, दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी (डीडीएमए) और दमकल विभाग की टीमें मौके पर पहुंचकर मामले की जांच कर रहे हैं। बैग कहां से आया और कौन इसे यहां रखकर गया इस बारे में अभी कोई स्पष्ट जानकारी नहीं मिल सकी है। दिल्ली पुलिस का कहना है 10 बजकर 20 मिनट पर एक पीसीआर कॉल मिली थी, ऐतिहात के तौर पर सारे SOP को फॉलो करवाया जा रहा है।

पुलिस या अन्य सुरक्षा एजेंसियों ने अभी तक इस बारे में कोई स्पष्टीकरण जारी नहीं किया है कि क्या यह किसी आतंकवादी समूह का काम है या कुछ शरारती व्यक्तियों द्वारा की गई शरारत है। अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त (पूर्व) विनीत कुमार ने कहा कि सुबह करीब साढ़े दस बजे पुलिस कंट्रोल रूम को फोन आया कि गाजीपुर फूल मंडी के एक गेट पर एक लावारिस बैग पड़ा है। स्थानीय पुलिस तुरंत मौके पर पहुंची और उस जगह के आसपास के इलाकों को घेर लिया, जहां संदिग्ध बैग मिला था। पुलिस ने इस बारे में अन्य एजेंसियों को भी अलर्ट किया। इसके बाद एनएसजी के बम दस्ते, खोजी कुत्ते और बम विशेषज्ञ भी मौके पर पहुंच गए। आज से बारह दिन बाद 26 जनवरी को होने वाले गणतंत्र दिवस समारोह के कारण राजधानी दिल्ली हाई अलर्ट पर है। वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने कहा कि केंद्रीय खुफिया और सुरक्षा एजेंसियों के साथ-साथ दिल्ली पुलिस राष्ट्रविरोधी तत्वों और उनकी गतिविधियों पर नजर रख रही है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि यह राष्ट्रीय पर्व बिना किसी अप्रिय घटना के मनाया जा सके।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Latest News

Latest Post
Latest News
Close