स्पोर्ट्स

IND vs SA: क्या मार्को जैनसेन को ODI मैच के प्लेइंग XI में मिलेगी जगह? कप्तान टेम्बा बवुमा ने दिया जवाब

दक्षिण अफ्रीका

भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच तीन मैचों की सीरीज का पहला वनडे इंटरनेशनल मैच आज खेला जाना है। मैच से एक दिन पहले दक्षिण अफ्रीका के लिमिटेड ओवर फॉर्मेट के कप्तान टेम्बा बावुमा ने कहा कि टेस्ट क्रिकेट से अचानक संन्यास लेने का फैसला लेने वाले क्विंटन डिकॉक इस वनडे सीरीज में खुद को साबित करना चाहेंगे। भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच तीन मैचों की टेस्ट सीरीज के पहले मैच के बाद डिकॉक ने टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेने का फैसला लेकर सबको चौंका दिया था। बावुमा ने कहा, 'क्विनी (डिकॉक) को फिर से (टीम में) देखना अच्छा है। जाहिर तौर पर हमें टेस्ट टीम में उनकी कमी खलती है। उन्होंने फैसला कर लिया है और यह एक ऐसा फैसला है जिसका हम सम्मान करते हैं। वह खुद को साबित करना चाहेंगे।' बाएं हाथ के आक्रामक बल्लेबाज-विकेटकीपर ने भारत के खिलाफ टेस्ट सीरीज के पहले मैच के बाद खेल के सबसे लंबे प्रारूप से संन्यास की घोषणा की थी। सेंचुरियन में खेले गए पहले टेस्ट में दक्षिण अफ्रीका को 113 रनों से हार का सामना करना पड़ा था।

'जैनसेन को मिल सकती है प्लेइंग XI में जगह'
भारत के खिलाफ वनडे सीरीज पर बावुमा ने कहा कि वे एक मजबूत टीम के खिलाफ खेलेंगे लेकिन चुनौती के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा, 'लिमिटेड ओवर के फॉर्मेट में भारत एक मजबूत टीम है। हम उनकी टीम का वैसे ही सम्मान करते हैं जैसे अन्य टीमों का करते हैं। टेस्ट सीरीज को देखते हुए हम जानते हैं कि यह कठिन मुकाबला होने वाला है।' उन्होंने यह भी कहा कि बाएं हाथ के तेज गेंदबाज मार्को जैनसेन को वनडे टीम में शामिल किया गया है और वह प्लेइंग XI में जगह बनाने की दौड़ में हैं।

'पार्ल का विकेट देखकर लेंगे प्लेइंग XI पर फैसला'
उन्होंने कहा, 'मार्को को वनडे टीम में शामिल किया गया है। दुनिया ने देखा है कि उसके पास क्रिकेट की क्या क्षमता है। उसे लिमिटेड ओवर की टीम में लाने के लिए ज्यादा दिमाग लगाने की जरूरत नहीं पड़ी। वह प्लेइंग XI में जगह पाने का मजबूत दावेदार है।' टीम की बॉलिंग कॉम्बिनेशन के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, 'बॉलिंग कॉम्बिनेशन के बारे में हमें पार्ल की परिस्थितियों को देखते हुए फैसला लेना होगा। यह ऊंचाई वाले क्षेत्रों के विकेट (पिच) से काफी अलग है। यह थोड़ा धीमा है।' उन्होंने कहा, 'लुंगी (एनगिडी), जैनसेन जैसे लोग मजबूत दावेदार हैं। हमें देखना होगा कि कौन से खिलाड़ी परिस्थितियों का फायदा उठा सकते हैं। पार्ल धीमे गेंदबाजों के लिए मददगार होता है। (तबरेज) शम्सी, केशव (महाराज) सभी का दावा मजबूत होगा। टीम के हर खिलाड़ी पर विचार होगा।'

'भारतीय स्पिनरों के खिलाफ बनाई है रणनीति'
उन्होंने भारतीय स्पिनरों से निपटने के बारे में कहा कि दक्षिण अफ्रीका के बल्लेबाज पिछले कुछ समय से स्पिन खेलने की तैयारी कर रहे हैं। उन्होंने कहा, 'हमारी तैयारी पिछले एक साल से हो रही है। पिछले साल श्रीलंका में सीरीज के दौरान लोगों ने पॉजिटिव रिजल्ट दिखाया था। आपने टी20 वर्ल्ड कप में भी देखा होगा।' उन्होंने कहा, 'जब आप भारत के खिलाफ खेलते हैं तो स्पिन गेंदबाजी उनकी ताकत है। हम इस पर कम करने के लिए जितना हो सके तैयारी करने की कोशिश करेंगे।'

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Latest News

Latest Post
Latest News
Close