राज्य

झांसी खजुराहो फोरलेन पर कैमरों से होगी निगरानी , जल्द मिलेगी एंबुलैंस की सेवा

छतरपुर

 झांसी- खजुराहो फोरलेन पर जिले की सीमा में 85 किलोमीटर लंबी सड़क की निगरानी रखने हाईटेक कैमरे लगाए जा रहे हैं। पहले चरण में 15 कैमरे लगाए गए हैं। इन कैमरों में 8 पैनटिलिट जूम कैमरा, 7 वीडियो इनसीडेंट डिटेक्शन सिस्टम कैमरा लगाए गए हैं। इसके साथ ही 8 वेरिएवल मैसेजिंग सिस्टम भी लगाए गए हैं। पूरे हाइवे पर निगरानी के लिए पचवारा टोल प्लाजा पर कंट्रोल रुम बनाया गया है। इन कैमरों के जरिए फोरलेन पर होने वाले हादसों की जानकारी तुरंत लगने से जल्द मदद पहुंचाने में मदद मिलेगी। इसके साथ ही कैमरों की नजर रहने से यात्री बदमाशों से भी सुरक्षित रहेंगे। अब दूसरे चरण में वाहनों के नंबर प्लेट पढऩे वाले हाईटेक कैमरे लगाए जाएंगे। जिसके जरिए ई-चालान सिस्टम शुरु किया जाएगा।

फोरलेन पर गाडियों के नंबर पढऩे वाले हाईटेक कैमरे लगाए जाने के साथ इस सिस्टम को आरटीओ व पुलिस से जोड़ा जाएगा। ताकि फोरलेन पर यातायात नियम तोडऩे वालों का ई-चालान जनरेट किया जा सके। ओवर स्पीड, सीट बेल्ट न लगाना, रॉग साइड ड्राइङ्क्षवग, रस ड्राइविंग समेत ट्र्ैफिक के नियम तोडऩे पर ई चालान किया जाएगा। वर्तमान में जिले की सीमा में 15 हाईटेक कैमरे लगाए गए हैं, जिनमें से फोटो खींचने व वीडियो बनाने के अलग अलग कैमरे लगाए गए हैं।

वाहनों की गति पर भी रहेगी नजर
फोरलेन से गुजरने वाले वाहनों ट्रक को 80 किलोमीटर प्रतिघंटे और कार को 100 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से चलने की अनुमति है। लेकिन कई वाहन चालक तय रफ्तार से भी तेज गति से वाहन दौड़ाते हैं। इन कैमरों से ऐसे वाहनों की पहचान कर रफ्तार पर अंकुश लगाया जाएगा। इसके अलावा फोरलेन पर होने वाली दुर्घटनाओं पर भी नजर रखी जाएगी। इससे न केवल दुर्घटना के शिकार को जल्द मदद मिलेगी, बल्कि टक्कर मारने वाले वाहन की पहचान हो सकेगी। हाईटैक कैमरे सभी वाहनों के नंबर आसानी से ट्रेस कर सकेंगे।

इमरजेंसी कॉल बेल सिस्टम खड़ा किया
फोरलेन पर राहगीरों को मदद पहुंचाने के लिए प्रति दो किलोमीटर पर इमरजेंसी कॉल बेल सिस्टम खड़ा किया गया है। 40 कॉल बेल बाई और और 40 कॉल बेल दाई ओर लगाए गए हैं। पीले रंग के पोल पर टेलीफोन लगाए गए हैं। इस टेलीफोन का बटन दबाते ही पचवारा और देवगांव टोल प्लाजा पर मौजूद टीम से आपाद मदद पहंचाई जाएगी। इसके अलावा 1033 नंबर पर कॉल करके दिल्ली के सेंट्रल नंबर के जरिए भी फोरलेन पर सहायता पाई जा सकती है। टोल प्लाटा पर एक एंबुलैंस एक क्रेन 24 घंटे तैनात रहती है।

अब जल्द मिलेगी एंबुलैंस की मदद
फोरलेन पर लगे हाईटेक कैमरे से सड़क दुर्घटनाओं पर नजर रखी जाएगी। जैसे ही कोई हादसा होगा, घटना स्थल के लिए तत्काल एंबुलैंस रवाना की जाएगी। इससे दुर्घटना के बाद इलाज में देरी से मारे जाने वाले लोगों की जान बचाने में मदद मिलेगी। हालांकि टोल नाकों पर एंबुलैंस पहले से तैनात है, लेकिन हादसे की जानकारी देर से मिल पाती है। ऐसे में कैमरे की मदद से हादसे की जानकारी तुरंत मिलने से राहत भेजने में तत्परता आएगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Latest News

Latest Post
Latest News
Close