देश

कर्नाटक के मंत्री ने मास्‍क पहनने से किया इंकार, बोले- ‘पीएम ने कहा कि यह व्यक्तिगत निर्णय है

बेंगलुरू
भारत में कोविड -19 की तीसरी लहर से जूझ रहा है। अन्‍य राज्‍यों की तरह कर्नाटक और उसकी राजधानी बेंगलुरू में कोरोना केस लगातार बढ़ रहे हैं। इस सबके बीच कर्नाटक में राजनीतिक नेताओं के बीच कोविड -19 प्रोटोकॉल का पालन न करना एक आदत सा बन गया है। ये ताजा मामला कर्नाटक के मंत्री उमेश कट्टी का है जिन्‍होंने फेस मास्क पहनने से इनकार कर दिया। कर्नाटक के मंत्री उमेश कट्टी ने फेस मास्क पहनने से इनकार कर दिया है। उन्होंने दावा किया प्रधानमंत्री ने कहा कि यह व्यक्ति का निर्णय है। इसके बारे में पूछे जाने पर उन्होंने दावा किया, "प्रधानमंत्री ने कहा है कि मास्क पहनने के संबंध में कोई प्रतिबंध या आत्म-जिम्मेदारी नहीं है। यह मास्क पहनने या न पहनने का एक व्यक्तिगत निर्णय है। मुझे लगता है कि मैं नहीं करता इसे पहनना है तो मैंने नहीं किया। कोई बात नहीं।"
 
उमेश कट्टी एक भाजपा नेता और कर्नाटक में खाद्य, नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता मामले और वन मंत्री हैं। उनकी टिप्पणी भारत में कोविड -19 की तीसरी लहर के दौरान आई है जब कई राज्यों ने वायरस को बढ़ने से निपटने के लिए प्रतिबंध लगा दिए हैं। साथ ही, मास्क न पहनने पर शहरों में लोगों से जुर्माना भी लगाया जा रहा है।

वहीं इससे पहले, कर्नाटक कांग्रेस के प्रमुख डीके शिवकुमार उस समय सुर्खियों में थे, जब उन्होंने कांग्रेस के मेकेदातु मार्च के पहले दिन अस्वस्थ होने के बाद कोविड -19 के परीक्षण से इनकार कर दिया था, जिसे तीसरी लहर के कारण फिलहाल के लिए निलंबित कर दिया गया है। उन्‍होंने कहा था स्वास्थ्य मंत्री चाहते हैं, तो उन्हें अपना नमूना देने दें। आपको लगता है कि मैं कोई हूं जो हवाई अड्डे से बाहर आया हूं? मुझे कानून पता है। आप चाहें तो मेरे खिलाफ मामला दर्ज करें लेकिन मैं अपना नमूना नहीं दूंगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Latest News

Latest Post
Latest News
Close