राज्य

वैक्सीनेशन का एक साल, देश की 65% आबादी फुल वैक्सीनेटेड

भोपाल
आज देश के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण दिन है। दरअसल, कोरोना महामारी को हराने के लिए चलाए गए टीकाकरण अभियान के आज एक साल पूरे हो गए। आज के ही दिन 16 जनवरी 2021 को देश में स्वास्थ्यकर्मियों और फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीका लगाए जाने की शुरूआत हुई थी। इसके बाद से कोरोना टीके दिए जाने का सिलसिला लगातार जारी है।

अबतक देश में वैक्सीन की 157 करोड़ खुराक लगाई जा चुकी हैं।  हालांकि देश में 8 फीसदी आबादी ऐसी है, जिसे अब तक एक भी टीका नहीं लगा। वहीं, 31 फीसदी आबादी ऐसी है, जिन्हों अब तक दोनों टीके नहीं लगे। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने इस मौके पर खुशी जताते हुए एक ट्वीट किया उन्होंने लिखा कि भारत में अब तक 156 करोड़ से अधिक वैक्सीन की खुराकें लगा दी गई हैं। जिनमें से 99 करोड़ खुराक ग्रामीण भारत में दी गई हैं। हमारी 65 फीसदी आबादी पूरी तरह से टीकाकृत है।

वैक्सीनेशन कार्यक्रम में हम कहां?
चीन ने 87 फीसदी आबादी को कोरोना का पहला टीका लगा दिया है जबकि 84 फीसदी को दूसरा टीका लगा दिया गया है। ब्रिटेन ने 76 फीसदी को पहला टीका और 70 फीसदी आबादी को दोनों टीके लगा दिए गए हैं। वहीं अमेरिका ने 75 फीसदी आबादी को कोरोना का पहला टीका लगा दिया है जबकि 62 फीसदी को दोनों डोज लगाए जा चुके हैं। जबकि भारत में 65 फीसदी आबादी पूरी तरह से टीकाकृत है।

24 घंटे में  2,71,202 नए मामले
भारत में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के 2,71,202 मामले दर्ज किए गए हैं।  देश में सक्रिय मरीजों की संख्या बढ़कर 15 लाख पार कर चुकी है, अभी 15,50,377 मरीजों का कोरोना इलाज चल रहा है. वहीं, पॉजिटिविटी रेट की बात करें तो शनिवार के मुकाबले इसमें थोड़ी कमी देखने को मिली है. शनिवार को जहां पॉजिटिविटी रेट 16.66 फीसद दर्ज की गई थी, वह रविवार को घटकर 16.28% हो गई।

हेल्थ वर्कर्स को धन्यवाद
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि जहां भी 15 साल से बड़े बच्चे वैक्सीन लगवाने के लिए शेष हैं, उन्हें वैक्सीन लगवाने में सहयोग दें। वैक्सीन ही सुरक्षा है। सावधान नहीं रहे तो तीसरी लहर जिन्हें वैक्सीन नहीं लगी है उनके लिए घातक हो सकती है। इसके लिए अभिभावकों को भी चिंता करने की जरूरत है।

क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी भी ग्राम स्तर पर इसके लिए काम करे। सीएम चौहान ने ये बातें राजधानी के जेपी अस्पताल में टीकाकरण केंद्र में पैरामेडिकल स्टाफ, हेल्थ वर्कर्स को संबोधित करते हुए कहीं। उन्होंने कहा कि कोरोना के दौर में 16 जनवरी का दिन गौरव का दिन है। मध्यप्रदेश में हेल्थ वर्कर और डॉक्टर्स की मेहनत के चलते अब तक 10.72 करोड़ वैक्सीन डोज 15 जनवरी तक लग चुके हैं। इसमें से 5.32 करोड़ को पहला डोज लग चुका है जो 97 प्रतिशत है और 5.08 करोड़ को दूसरा डोज लगा है जो कुल आबादी का 92 प्रतिशत है।

हेल्थ वर्कर्स ने पहाड़ों और अन्य दुर्गम स्थानों पर जाकर वैक्सीन लगाई है। सभी को धन्यवाद देता हूं, नमन करता हूं। वैक्सीन के डोज की बदौलत ही हम तीसरी लहर में सुरक्षित हैं। कोरोना भले ही हो रहा है लेकिन यह घातक नहीं बन पाया है। कोरोना मरीज भले ही ज्यादा आ रहे हैं लेकिन अस्पताल में भर्ती होने वालों की संख्या काफी कम है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Latest News

Latest Post
Latest News
Close