छत्तीसगढ़

एसएमएस-2 का स्लैब कास्टर -1का रिपेयरिंग कार्य पूरा

भिलाई
सेल-भिलाई इस्पात संयंत्र के एसएमएस-2 की कंटीन्यूअस कास्टिंग शॉप में छह कास्टर हैं जिनमें से 2 ब्लूम कास्टर और 4 स्लैब कास्टर हैं। एसएमएस-1 को बंद करने के बाद, ब्लास्ट फर्नेस में उत्पादित हॉट मेटल के बड़े हिस्से को क्रूड स्टील में बदलने के लिए एसएमएस-2 को भेजा जाता है।  उल्लेखनीय है कि एसएमएस-2 स्लैब और ब्लूम दोनों का उत्पादन करता है जो क्रमश: प्लेट के उत्पादन के लिए प्लेट मिल और रेल के उत्पादन के लिए रेल और स्ट्रक्चरल मिल को भेजे जाते हैं। फ्लैट उत्पादों की बढ़ी हुई मांगों के कारण, एसएमएस-2 के उत्पाद मिश्रण में स्लैब एक प्रमुख घटक है।

कॉस्टर-1 के कैपिटल रिपेयर का कार्य सात साल पहले वर्ष 2017 में किया गया था। विदित हो कि कास्टर के रखरखाव की समय-समय पर योजना बनाई और निष्पादित की जाती है। कैपिटल रिपेयर में उन कार्यों को शामिल किया जाता है जिनमें लंबी अवधि लगती है-जैसे बंकर बदलना, स्टीम एग्जास्टर का सम्पूर्ण ओवरहालिंग, पानी, लुब्रिकेशन और हाइड्रोलिक्स लाइन का रखरखाव, मोल्ड आॅसीलेशन मेकानिज्म और सभी पिंच रोल सेगमेंट का प्रतिस्थापन जैसे सभी बड़े कार्यों की योजना बनाकर निष्पादित किया जाता है।

सीसीएस बिरादरी ने ईडी (वर्क्स) अंजनी कुमार के नेतृत्व में और सीजीएम (एसएमएस-2) सुशील कुमार, तत्कालीन सीजीएम (एम एंड यू) अरविंद कुमार और सीजीएम (मेकेनिकल) एस के गजभिये के मार्गदर्शन में कैपिटल रिपेयर के इस चुनौतीपूर्ण कार्य को अंजाम दिया गया। यह पहली बार था कि कैपिटल रिपेयर के दौरान ही अतिरिक्त पिंच रोल सेगमेंट तैयार किए गए।

कास्टर के कैपिटल रिपेयर में कास्टर के भू-स्थानिक कॉन्फिगुरेशन की सटीक बहाली सबसे बड़ी चुनौती है। सर्वे टीम और सीएचएम टीम ने शॉप (मेकेनिकल) टीम की सहायता से सभी 22 पिंच रोल सेगमेंट को बदलकर बड़ी सूक्ष्मता और सटीकता के साथ भू-स्थानिक कॉन्फिगुरेशन की बहाली के इस जटिल कार्य को पूरा किया। कैपिटल रिपेयर के बाद कास्टिंग रेडियस को 12000 मिमी तक 0.5 मिमी के टालरेंस लेवल के साथ बहाली की गई। सेकेंडरी लेक्लर कूलिंग सिस्टम को भी उसकी मूल स्थिति में स्थापित करने में सफलता पायी। सभी ग्रीस लाइन, हाइड्रोलिक लाइन और उपकरण कूलिंग लाइनों को डिजाइन स्तरों पर संचालित करने के लिए बहाल किया गया। यह चुनौतीपूर्ण कैपिटल रिपेयर का कार्य मशीन शॉप्स, इंस्ट्रुमेंटेशन, सीआर एंड एम ग्रुप, सीएचएम, पीएलईएम, बियरिंग इंजीनियरिंग डिपार्टमेंट, मैटेरियल्स मैनेजमेंट, कॉन्ट्रैक्ट सेल और कई ठेका श्रमिकों के समूहों द्वारा किये गये कुशल व समन्वित प्रयास के कारण पूरा किया जा सका।

यह कैपिटल रिपेयर सीसीएस को शॉप्स से अच्छी गुणवत्ता वाले स्लैब के उत्पादन को सुनिश्चित करने और उच्च विश्वसनीयता, उपलब्धता और उपयोगिता बनाये रखने में सक्षम बनाएगी। कैपिटल रिपेयर का कार्य 12 नवम्बर, 2021 को प्रारंभ किया गया था और 7 जनवरी, 2022 को पूर्ण किया गया। कैपिटल रिपेयर के दौरान, शेष कास्टर की उपलब्धता और विश्वसनीयता सुनिश्चित की गई थी, जिससे हॉट मेटल की उपलब्धता के अनुसार अधिकतम क्षमता पर सभी कास्टर काम करने में सक्षम हो पाए। 8 जनवरी, 2022 को बी शिफ्ट में कास्टर को फिर से शुरू किया गया और 8 हीट के अनुक्रम को पहली बार में ही सफलतापूर्वक कास्ट किया गया। उल्लेखनीय है कि एसएमएस-2 के सुरक्षा अधिकारियों द्वारा चौबीसों घंटे निगरानी करने के कारण 57 दिनों का यह कैपिटल रिपेयर कार्य एक भी असुरक्षित घटना के बिना सफलतापूर्वक पूर्ण किया गया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Latest News

Latest Post
Latest News
Close