राज्य

स्किल डेवलप कर आत्म-निर्भरता की ओर कदम बढ़ाएं विद्यार्थी : मंत्री सखलेचा

नीमच
सूक्ष्म लघु मध्यम उद्यम तथा विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री ओमप्रकाश सखलेचा ने नीमच जिले की जावद तहसील के ग्राम सरवानिया महाराज में शासकीय  उच्चतर माध्यमिक विद्यालय का आकस्मिक निरीक्षण कर प्रोजेक्ट विद्या के तहत स्कूल में संचालित डिजिटल शिक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। उन्होंने कक्षा में जाकर स्कूली छात्र-छात्राओं से चर्चा की और उन्हें डिजिटल शिक्षा के माध्यम से स्किल डेवलप करने के लिए प्रेरित किया। मंत्री सखलेचा ने छात्र-छात्राओं से रूबरू होते हुए कहा कि जावद क्षेत्र के 20 स्कूलों में अंग्रेजी एवं जापानी भाषा की शिक्षा की व्यवस्था की जा रही है। उन्होंने कहा कि विद्यार्थी जापानी भाषा सीख लें। इसके बाद उन्हें ग्रेजुएशन के लिए जापान भेजा जाएगा, जहाँ वे ग्रेजुएशन के साथ ही कोई ना कोई काम कर सकेंगे। इससे उन्हें पढ़ाई के साथ-साथ आर्थिक संबल भी मिलेगा।

मंत्री सखलेचा ने छात्र-छात्राओं से चर्चा कर डिजिटल बोर्ड के माध्यम से पढ़ाई के बारे में भी पूछा। उन्होंने प्राचार्य को निर्देशित किया कि डिजिटल बोर्ड में सॉफ्टवेयर को कंपनी से चर्चा कर अपडेट करवाएं। साथ ही स्कूल में उपलब्ध 30 टेबलेट की आवश्यकतानुसार मरम्मत के लिए संबंधित कंपनी से चर्चा करें। उन्होंने कहा कि उपलब्ध टेबलेट छात्र-छात्राओं को चिन्हित कर प्रदान करें और उनके माध्यम से जे.ई.ई. एवं नीट की परीक्षाओं की तैयारी करवाएं।

मंत्री सखलेचा ने कहा कि जावद क्षेत्र के विभिन्न स्कूलों से चयनित छात्र-छात्राओं को इंदौर इंफोसिस कंपनी भेज कर भ्रमण करवाया जाएगा। मंत्री सखलेचा ने सरवानिया महाराज स्कूल की विभिन्न कक्षाओं में जाकर बच्चों से डिजिटल बोर्ड से शिक्षा से हुए लाभ के बारे में भी जानकारी ली। इस विद्यालय में कक्षा ग्यारहवीं के 10 बच्चे और 12वीं के 22 बच्चे टेबलेट के माध्यम से विभिन्न परीक्षाओं की तैयारियां कर रहे हैं। इसके साथ ही डिजिटल बोर्ड के माध्यम से भी स्कूल में अध्यापन कार्य हो रहा है। डिजिटल अध्यापन कार्य को छात्र-छात्राओं ने काफी उपयोगी बताया।

विद्यार्थियों के स्किल डेवलपमेंट की अभिनव पहल
मंत्री ओमप्रकाश सखलेचा की पहल पर विद्यार्थियों को शिक्षा हेतु लगातार प्रोत्साहन के साथ-साथ नई तकनीक का प्रयोग विद्यालय एवं महाविद्यालय के विद्यार्थियों के लिए किया जा रहा है। विश्व स्तरीय आईटी कंपनी टाटा कंसलटेंसी सर्विस (टीसीएस) के सहयोग से विद्यालय एवं महाविद्यालय के विद्यार्थियों हेतु ऑनलाइन प्रशिक्षण प्रारंभ किया जा रहा है। जावद विकासखंड के 25 शिक्षकों को मास्टर ट्रेनर के रूप में प्रशिक्षित करने हेतु टीसीएस कंपनी के इंदौर ऑफिस की विजिट कराई जा चुकी है। कंपनी इन मास्टर ट्रेनर प्रशिक्षकों की सहायता से  'इग्नाइट माय फ्यूचर' प्रोग्राम द्वारा विद्यार्थियों की समस्या निवारण एवं कौशल का विकास करेंगे। पांच दिवसीय ऑनलाइन प्रशिक्षण 11 जनवरी से टी सी एस कम्पनी द्वारा शुरू कर दिया गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Latest News

Latest Post
Latest News
Close