स्पोर्ट्स

BCCI के अधिकारियों ने ‘कप्तान’ विराट कोहली को बधाई देते हुए कहा है कि बोर्ड और चयन समिति उनके फैसले का सम्मान करती

नई दिल्ली
भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड यानी बीसीसीआई ने एक दिन के बाद टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली को बधाई दी है। विराट कोहली ने टेस्ट क्रिकेट की कप्तानी से इस्तीफा दे दिया है। 15 जनवरी को उन्होंने सोशल मीडिया पर इस बात का ऐलान किया कि वे अब क्रिकेट के किसी प्रारूप में टीम के कप्तान नहीं होंगे। ऐसे में बीसीसीआई ने बधाई देते हुए कहा है कि बोर्ड और चयन समिति उनके फैसले का सम्मान करती है। इसके अलावा बोर्ड के अधिकारियों ने भी विराट कोहली को लेकर बयान दिया है, जिसमें अध्यक्ष सौरव गांगुली, सचिव जय शाह, उपाध्यक्ष राजीव शुक्ला, कोषाध्यक्ष अरुण सिंह धूमल और संयुक्त सचिव का नाम शामिल है।

बीसीसीआई ने प्रेस रिलीज जारी करते हुए कहा है कि बोर्ड को पूरा भरोसा है कि वे एक खिलाड़ी के तौर पर भारतीय क्रिकेट को ऊंचाइयों पर ले जाने के लिए अपना देते रहेंगे। विराट कोहली भारत के सबसे सफल टेस्ट कप्तान हैं। एमएस धोनी के बाद कप्तानी की बागडोर संभालने वाले विराट ने 68 टेस्ट मैचों में टीम की कप्तानी की, जिसमें से भारत ने 40 मुकाबले जीते। एक कप्तान के तौर पर 2015 में भारत ने श्रीलंका में टेस्ट सीरीज जीती। 22 साल में पहली बार भारत ने ये कमाल किया था। इसके अलावा उनकी कप्तानी में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 2018-19 में उन्हीं की सरजमीं पर हराया था। उसी साल वेस्टइंडीज के खिलाफ भी भारत ने सीरीज जीती थी। विराट ने टेस्ट टीम को नंबर वन बनाया था।  
 
बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने कहा, "मैं व्यक्तिगत रूप से विराट को भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान के रूप में उनके अपार योगदान के लिए धन्यवाद देता हूं। उनके नेतृत्व में भारतीय क्रिकेट टीम ने खेल के सभी प्रारूपों में तेजी से प्रगति की। उनका फैसला निजी है और बीसीसीआई इसका बहुत सम्मान करती है। वह इस टीम का एक बहुत ही महत्वपूर्ण सदस्य बने रहेंगे और एक नए कप्तान के तहत बल्ले से अपने योगदान से इस टीम को नई ऊंचाइयों पर ले जाएंगे। हर अच्छी चीज का अंत होता है और यह बहुत अच्छा रहा है।"
 
वहीं, सचिव जय शाह का कहना है, "विराट कोहली भारतीय क्रिकेट टीम का नेतृत्व करने वाले सबसे बेहतरीन कप्तानों में से एक रहे हैं। एक नेता के रूप में टीम के प्रति उनका रिकॉर्ड और योगदान किसी से छिपा नहीं है। भारत को कप्तान के तौर पर 40 टेस्ट मैच जिताना इस बात का प्रमाण है कि उन्होंने टीम का नेतृत्व अच्छी तरह से किया। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, वेस्टइंडीज, श्रीलंका और दक्षिण अफ्रीका सहित भारत और विदेशों में अपनी कुछ बेहतरीन टेस्ट मैच जीत के लिए टीम का नेतृत्व किया और उनके प्रयास देश का प्रतिनिधित्व करने की इच्छा रखने वाले साथी और आने वाले क्रिकेटरों को प्रेरित करेंगे। हम विराट के उज्जवल भविष्य की कामना करते हैं और उम्मीद करते हैं कि वह भारतीय टीम के लिए मैदान पर यादगार योगदान देना जारी रखेंगे।"
 
बीसीसीआई के उपाध्यक्ष राजीव शुक्ला ने कहा, "विराट जैसा क्रिकेटर एक पीढ़ी में एक बार आता है और भारतीय क्रिकेट का सौभाग्य है कि वह एक कप्तान के रूप में टीम की सेवा करता है। उन्होंने जोश और आक्रामकता के साथ टीम की कप्तानी की और देश और विदेश में भारत की कई यादगार जीत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। हम उनके आगे के करियर के लिए शुभकामनाएं देते हैं।"
 
बोर्ड के कोषाध्यक्ष अरुण सिंह धूमल ने अपनी शुभकामनाएं देते हुए कहा, "अपने कभी न हारने वाले रवैये के साथ, विराट ने एक लीडर के रूप में अपना सब कुछ दे दिया और एक कप्तान के रूप में उनका शानदार रिकॉर्ड उनके बारे में बोलता है। जिस क्षण से वे भारत के टेस्ट कप्तान बने, उन्होंने सुनिश्चित किया कि भारत हमेशा उत्कृष्टता के लिए प्रयास करे और विश्व क्रिकेट पर हावी रहे, जबकि विराट एक बल्लेबाज के रूप में एक पावरहाउस बने रहे। विराट ने कप्तान के तौर पर भी कोई कसर नहीं छोड़ी, जिससे टीम को दुनिया भर में कुछ बेहतरीन प्रदर्शन करने में मदद मिली। मैं उनके उज्जवल भविष्य की कामना करता हूं।"
 
वहीं, बीसीसीआई के संयुक्त सचिव जयेश जॉर्ज ने कहा, "विराट क्रिकेट के इतिहास में सबसे बेहतरीन क्रिकेटरों और कप्तानों में से एक के रूप में उतरेंगे, जिन्होंने इस खेल को गौरवान्वित किया है। उन्होंने धैर्य, दृढ़ संकल्प के साथ टीम की कप्तानी की और एक क्रिकेट टीम के रूप में भारत के भविष्य को आकार देने में एक बड़ी भूमिका निभाई। हमें यकीन है कि विराट एक खिलाड़ी के रूप में और टीम के सबसे अनुभवी सदस्यों में से एक के रूप में बड़ी भूमिका निभाते रहेंगे।"

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Latest News

Latest Post
Latest News
Close